ARARIA अररिया ﺍﺭﺭﯼﺍ

~~~A showery district of north-eastern Bihar (India)~~~ www.ArariaToday.com

  • ARARIA FB LIKE

  • Recent Comments

    Masoom on Railway Time Table Araria…
    Raman raghav on Sri Sri 108 Mahakali Mandir…
    parwez alam on Railway Time Table Araria…
    ajay agrawal on Araria at a glance
    Tausif Ahmad on Railway Time Table Araria…
    aman on Thana in Araria – Police…
  • स्थानीय समाचार Source Araria News

    http://rss.jagran.com/local/bihar/araria.xml Subscribe in a reader
    Jagran News
    Local News from Kishanganj, Purnia and Katihar
    इन्टरनेट पर हिंदी साहित्य - कविताओं, ग़ज़लों और संस्मरणों के माध्यम से
    इन्टरनेट पर हिंदी साहित्य का समग्र रूप Saahitya Shilpi
    चिटठा: यादों का इंद्रजाल


    मैंने गाँधी जयंती पर एक संकल्प लिया! आप भी लें. यहाँ पढ़े
  • Recent Posts

  • Historial News towards Development

    (ऐतिहासिक क्षण ) # Broad Gague starts at Jogbani-Katihar Rail lines. रेलमंत्री द्वारा हरी झंडी दिखाने के साथ ही नयी लाइन पर जोगबनी से कोलकाता के लिये पहली रेल चल पड़ी। # Thanks a ton to Railway deptt.
  • RSS Hindikunj Se

    • वर्णमाला के अक्षर
      वर्णमाला के अक्षर 'क'कमल खिला जब पानी में,करवट बदली तब हवा ने ,कमान से निकला तीर है,कमाल कर दिया आपने |'ख'खाली-खाली डिब्बा है,खाने की कोई चीज नहीं,खिड़की से बाहर देखो,खरगोश फुदक रहा है |'ग'गरम-गरम जलेबी है,गिलास में थोड़ा पानी है,गलत बरताव नहीं करते,गरीब को कभी नहीं सताते|'घ'घर के अन्दर आ जाओ,घन बरस रहे है,घमासान युद्ध छ […]
      Ashutosh Dubey
    • हनुमान आरती
      हनुमान आरती हनुमान जी आरती कीजै हनुमान लला की। दुष्टदलन रघुनाथ कला की॥१जाके बल से गिरिवर काँपै। रोग-दोष जाके निकट न झाँपै॥२अंजनि पुत्र महा बलदाई। संतन के प्रभु सदा सहाई॥३दे बीरा रघुनाथ पठाये। लंका जारि सीय सुधि लाये॥४लंका सो कोट समुद्र सी खाई। जात पवनसुत बार न लाई॥५लंका जारि असुर सँहारे। सियारामजी के काज सँवारे॥६लक्ष्मण मूर्छित पड़े सकारे। आनि सजीवन प्रान उब […]
      Ashutosh Dubey
    • ॐ जय जगदीश हरे
      ॐ जय जगदीश हरेॐ जय जगदीश हरेस्वामी जय जगदीश हरेभक्त जनों के संकट,दास जनों के संकट,क्षण में दूर करे,भगवान विष्णुॐ जय जगदीश हरेजो ध्यावे फल पावे,दुख बिनसे मन कास्वामी दुख बिनसे मन कासुख सम्पति घर आवे,सुख सम्पति घर आवे,कष्ट मिटे तन काॐ जय जगदीश हरेमात पिता तुम मेरे,शरण गहूं मैं किसकीस्वामी शरण गहूं मैं किसकी .तुम बिन और न दूजा,तुम बिन और न दूजा,आस करूं मैं जिसक […]
      Ashutosh Dubey
    • कैशलेस इकोनॉमी
      भारत कैशलेस अर्थव्यवस्था की दिशा में बढ़ा भारत देश से काले धन को ख़त्म करने के लिए भारत सरकार ने 500 और 1000 के नोटों को बंद कर दिया है और कैशलेस यानि बिना नकदी इस्तेमाल किए लेनदेन और ख़रीद फ़रोख्त के काम को बढ़ावा दिया जाने का सलाह दिया जा रहा है. नोटबंदी के बाद ये चर्चा है की हिंदुस्तान कैसेलेस अर्थव्यवस्था की और बढ़ रहा है। कैशलेस अर्थव्यवस्थावित्तमंत्री अर […]
      Ashutosh Dubey
    • विस्‍तार
      विस्‍तारविस्‍तार अगर पाना है तोख़ुद को लघुतम करना ही होगावृक्ष रूप को पाना है तोख़ुद बीज रूप में ढलना ही होगाऔर महामानव बनना ही है तोमानव-अणु  बनना ही होगा ।    ................................................... बातीजगर-मगर कर जगर-मगरजल-जल बुझती मन की बातीकभी जलाती होली सी औरकभी सुहाती दीवाली सी बातीतन-रूपी माटी के दीपक मेंप्रकाश-पुंज सी सिमटी बातीआकाश-रूप […]
      Ashutosh Dubey
    • जीयें आप
      जीयें आपकितनी मीठी है ये दुआ। कितना सुन्‍दर है यह आशीष । ये शब्‍द झंकृत कर सकते हैं किसी के भी हृदय, मन और आत्‍मा को । शायद जीवन के सबसे बड़े आशीषों में से एक है बल्कि सबसे बड़ा आशीष है । लेकिन जो जीवन के पार निकल जाए उसके लिए कितनी सार्थक है यह शब्‍द ध्‍वनि ।  शरीर से जीवित रहना ही तो जीवन नहीं है । जब भी कोई दीर्घायु होने की दुआ देता है तो लगता है कि कितनो […]
      Ashutosh Dubey
    • काकी
       काकीगाँव की हलचल की बात ही कुछ निराली है | गांव का वातावरण मन मोह लेता है लेकिन उससे ज्यादा कहीं काकी की बातें ज्यादा मन मोह लेती है | काकी से जब मिलता हूँ तो लगता है कि वास्तव में हमारी काकी में दम है | बहुत ही सहजता लिये हुये अगर हमारी काकी जैसी काकी सबको मिले तो हर समय सावन झूमता रहे | मन मयूर हुआ रहे | रातों रात किस्मत चमक जाये | कितना सुंदर अट्टहास | ज […]
      Ashutosh Dubey
    • जीवन की परिभाषा
      जीवन की परिभाषामैंने पूछा एक कली से , "आपके ख्याल मे जीवन की परिभाषा क्या हैं "कली मुस्काई और बोली  ,"मेरे जीवन की तो यही परिभाषा हैं  ,मैं दुःख मे भी सुख का अनुभव करती हूँ  ,काँटे मेरे संग हैं फिर भी किसी से नहीं डरती हूँ जब बारीश की बूँदों की चोट मैं सहती हूँ  ,शिकायत नहीं करती उससे नवयौवना सी रहती हूँ  ,सर्द हवा कभी गर्म हवा के मैं  थपेडे ख […]
      Ashutosh Dubey
    • पर्यावरण मित्र ट्रेन
      हाइड्रोजन से चलने वाली पर्यावरण-मित्र ट्रेन : जर्मनी की कोराडिया आईलिंटडॉ. शुभ्रता मिश्राजब भी विज्ञान के क्षेत्र में कोई नया अविष्कार होता है, तब मानव सभ्यता दोगुना गौरवांवित अनुभव करती है। वैसे तो विश्व के वैज्ञानिक जाने कितने छोटे बड़े अविष्कारों और खोजों में दिनरात लगे रहते हैं और कितनी ही ऐसी खोजें होती हैं, जिनके बारे में लोगों को ज्यादा अभिरुचि भी नही […]
      Ashutosh Dubey
    • सामायिक परिदृश्य और कथा स्रष्टा - प्रेमचंद
      ​सामायिक परिदृश्य और कथा स्रष्टा - प्रेमचंद महेन्द्रभटनागर रांगेय राघव, अमृतराय और धर्मवीर भारती की पीढ़ी के लेखक हैं। उन्होंने प्रायः सभी प्रमुख विधाओं में अपनी अभिरुचि एवं रचनात्मक सक्रियता का परिचय दिया है। लेकिन उनका मुख्य क्षेत्र काव्य और आलोचना ही रहा है। मुझे याद है, पचास के दशक में जब मैंने साहित्य और संस्कृति की दुनिया में आँखें खोलीं, महेन्द्रभटनागर […]
      Ashutosh Dubey
  • Month Digest / अभिलेखागार

  • Total Visits

    • 191,926 hits
  • Follow ARARIA अररिया ﺍﺭﺭﯼﺍ on WordPress.com

Discussion Forum (परिचर्चा)

Want to Start New Discussion

 
ARARIA DEVELOPMENT ISSUE

 

 

Click here >> ARARIA FORUM

stop-child-labour

This was the First Topic

Child Labour

Child Labour

How can we increase the rate of child education as Araria has high percentage of child labour in the state.

(Use the form below to send us your suggestions or any new issues.)

Thanking you.

This Forum Section has been now upgraded.

Please enter by clicking Image below

Araria Forum for total community development

Araria Forum for total community development


13 Responses to “Discussion Forum (परिचर्चा)”

  1. Sandhya said

    Stop Child Labour!!

    This is totally against clean environment. NGOs should be active.

  2. There are some Agencies, who are working on child labour.

    1. Dist Child prection Unit (supported by Unicef)
    2. SAMBAL (Program run by Bhumika Bihar with support of Unicef)
    3. Child walefare Committee (Dist Admin)
    4. National Child Labour Project

    This is for your kind information.

  3. raman said

    well we couldnt be stupid and make our children work and we could get a job and learn and make money at any cost.
    you can begin by helping children start in school fund rasing to stop the child labor law.

  4. najif khan said

    FROM FREEDOM TO THIS TIME ALL ARARIA LEADER IS CORUPT.IF LEADER IS CORUPT AND ILLITERATE THEN NOT AREA IS DEVELOPED.SO FIRST STEP IS WE ELECT A GOOD LEADER.A GOOD LEADER CAN DEVELOP THIS AREA.

  5. hamid said

    To increase the rate of child education in Araria first and foremost think we should do to increase awareness about advantage of education(functionally literate them so that they will able to read anything like instruction to use fertilizer.) give them practial education, ensure that the administration is taking good step to stop child labour especially in small shop like tea shop, cycle @ hotel .

  6. service to humanity is srvice to GOD,so belive in GOD .Be great by your service,sacrifies and puja(namaj0

  7. The common people should discourage the service provided by the minors. The minors must be provided their right of free and compulsory education.

  8. vatsala shanker said

    well in my views there is only one way out and it is proper awareness and education that can help eradicate child labour. government should make certain rules that one need to follow strictly. for example in china there is a rule that no one can have more than 1 child and people follow it. this is what the govt of india should opt as one of its policies to eradicate child labour. on the other hand, we the common people should help the govt in such a great work. because we as children are the future of the nation.

  9. ashraf said

    first we have to develop the infrastructure of araria which will attract the attention of industrialist because only industrialisation will increase the per capita income of araria.we know araria has always been affected by flood which decrease the food production and leave the people poor.agriculture is the only source of income of araia and we have to go for other alternatives,the other alternatives i think are self employment,small scale industries and industrialisation.if we improove the per capita income it will automatically decrease the no of child labour because no body wants there child to be used as a child labour, it is the need of money that pressurise the parents to allow their child to be used as child labour.

  10. Hi
    Dear Said you are absolutely right
    if all the peoples of araria thinks same as u, then defiantly Araria will be developed .

  11. i agree with u.

  12. Sulabh said

    Comments has been closed for this Page.

    For any kind of discussion go to the Forum section or click here
    http://www.arariatoday.com/forum/forum.php?id=1

    (Its our duty to think and serve for our home district, state and the country)

    Thanks for giving your time

 
%d bloggers like this: